[ad_1]

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रांची
Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव
Updated Wed, 26 Jan 2022 12:02 PM IST

सार

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कई घोषणाएं की हैं। इसमें सप्ताह में पांच दिन काम, पेंशन अंशदान 14 प्रतिशत, तीरंदाजी अकादमी समेत कई घोषणाएं शामिल हैं। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल
– फोटो : एएनआई (फाइल)

ख़बर सुनें

छत्तीसगढ़ के राज्य कर्मचारियों को 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के मौके पर गणतंत्र का तोहफा मिला। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य कर्मचारियों के लिए कई घोषणाएं की। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के कर्मचारियों को अब सप्ताह में सिर्फ पांच दिन ही काम करना होगा। इसके साथ ही पेंशन के लिए, अंशदायी पेंशन योजना के हिस्से के रूप में राज्य का योगदान 10% से बढ़ाकर 14% किया गया है। 

वहीं मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि रिहायशी क्षेत्रों में संचालित व्यवसायिक गतिविधियों के नियमितीकरण के लिए विशेष प्रावधान किए जाएंगे। इसके अलावा महिला सुरक्षा के लिए भी प्रत्येक जिले में महिला सुरक्षा प्रकोष्ठ का गठन करने का एलान मुख्यमंत्री ने किया। 

तीरंदाजी के लिए बनेगी अकादमी
राज्य में तीरंदाजी को प्रोत्साहित करने के लिए शहीद गुण्डाथुर राज्य स्तरीय तीरंदाजी अकादमी भी शुरू की जाएगी। इसके अलावा अन्य पिछड़ा वर्ग में उद्यमिता विकास हेतु 10 प्रतिशत भूखंड भी आरक्षित किए जाएंगे। 

दलहन फसलों की होगी एमएसपी पर खरीदारी
किसानों के लिए घोषणा करते हुए सीएम बघेल ने कहा कि खरीफ वर्ष 2022-23 से प्रदेश में दलहन फसल जैसे मूंग, उड़द, अरहर आदि की खरीदी भी एमएसपी पर की जाएगी। वहीं श्रमिक परिवारों की बेटियों के लिए मुख्यमंत्री सशक्तिकरण सहायता योजना शुरू होगी। इसके तहत दो पुत्रियों के बैंक खातें में 20-20 हजार रुपये की राशि का एकमुश्त भुगतान किया जाएगा। 

विस्तार

छत्तीसगढ़ के राज्य कर्मचारियों को 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के मौके पर गणतंत्र का तोहफा मिला। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य कर्मचारियों के लिए कई घोषणाएं की। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के कर्मचारियों को अब सप्ताह में सिर्फ पांच दिन ही काम करना होगा। इसके साथ ही पेंशन के लिए, अंशदायी पेंशन योजना के हिस्से के रूप में राज्य का योगदान 10% से बढ़ाकर 14% किया गया है। 

वहीं मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि रिहायशी क्षेत्रों में संचालित व्यवसायिक गतिविधियों के नियमितीकरण के लिए विशेष प्रावधान किए जाएंगे। इसके अलावा महिला सुरक्षा के लिए भी प्रत्येक जिले में महिला सुरक्षा प्रकोष्ठ का गठन करने का एलान मुख्यमंत्री ने किया। 

तीरंदाजी के लिए बनेगी अकादमी

राज्य में तीरंदाजी को प्रोत्साहित करने के लिए शहीद गुण्डाथुर राज्य स्तरीय तीरंदाजी अकादमी भी शुरू की जाएगी। इसके अलावा अन्य पिछड़ा वर्ग में उद्यमिता विकास हेतु 10 प्रतिशत भूखंड भी आरक्षित किए जाएंगे। 

दलहन फसलों की होगी एमएसपी पर खरीदारी

किसानों के लिए घोषणा करते हुए सीएम बघेल ने कहा कि खरीफ वर्ष 2022-23 से प्रदेश में दलहन फसल जैसे मूंग, उड़द, अरहर आदि की खरीदी भी एमएसपी पर की जाएगी। वहीं श्रमिक परिवारों की बेटियों के लिए मुख्यमंत्री सशक्तिकरण सहायता योजना शुरू होगी। इसके तहत दो पुत्रियों के बैंक खातें में 20-20 हजार रुपये की राशि का एकमुश्त भुगतान किया जाएगा। 

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here